SatsangLive

The Spiritual Touch

Posts By / Arya Manu

Morari Bapu in Nathdwara: कविता सेठ की लाजवाब प्रस्तुति

भादों मास का सोमवार वैसे भी बारिश से तर हो चुका था। लालबाग स्टेडियम में जब प्रसिद्ध सूफीयाना गायिका कविता सेठ ने सुरों की बरसात की और उसी रंग में नृत्य हुआ तो हजारों लोग सूफी रंग में रंग गए। ना तेरा खुदा कोई और है, न मेरा खुदा कोई और है, ये जो रास्ते [...]

0

Morari Bapu in Nathdwara: तीसरा दिन

(सीधे श्री नाथद्वारा से आर्य मनु की रिपोर्ट ) श्री नाथद्वारा. “कलयुग केवल नाम अधारा, जपत जपति नर होय पारा” कलयुग में केवल नाम ही प्रभु स्मरण का एकमात्र आधार है. तुम राम का नाम लेते हो या कृष्ण का.. या किसी का भी.. उस में दिक्कत नहीं.. बस केवल नाम लो और उसमे प्रभु [...]

0

महाआरती के साथ शुरू हुआ बाबा रामदेव का मेला

जोधपुर.भाद्रपद के पहले शुक्लपक्ष की द्वितीया पर रविवार को मसूरिया स्थित बाबा रामदेव मंदिर में ‘बाबे री बीज’ का मेला अलसुबह पांच बजे 51 दीपक से महाआरती के साथ प्रारंभ हुआ। मसूरिया स्थित बाबा रामदेव के गुरु बालीनाथ के समाधिस्थल पर दर्शन के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। अलसुबह महाआरती के साथ ही बाबा [...]

0

Morari Bapu in Nathdwara: दूसरा दिन

नाथद्वारा। मिराज गु्रप द्वारा आयोजित रामकथा के दूसरे दिन बापू ने हनुमान स्तुति व रामधून के साथ कथा प्रारंभ की। इससे पूर्व बापू के मंच पर आने व व्यासपीठ पर विराजने के दौरान शंखनाद हुए। शंख की ध्वनि के साथ ही मिराज सीएमडी बापू को व्यासपीठ तक लाए। बापू व्यासपीठ को प्रणाम कर विराजित हुए। [...]

1

पुरषोत्तम मास : क्या करें, क्या ना करें

हिंदू पंचांग के अनुसार विक्रम संवत् 2069 में (सन् 2012) भाद्रपद नामक अधिकमास है। यह अधिक मास 18 अगस्त, शनिवार को प्रारंभ होगा जो 16  सितंबर, रविवार तक रहेगा। धर्म ग्रंथों में इसे पुरुषोत्तम व मल मास भी कहा गया है। इस महीने में भगवान विष्णु का पूजन करने का विशेष महत्व है। ज्योतिषियों के [...]

0

मोरारी बापू इन नाथद्वारा : पहला दिन

नाथद्वारा।रामकथा के पहले ही दिन मुरारी बापू ने रामचरित मानस के निचोड़ को प्रस्तुत कर दिया। बापू बोले, प्रेम में परमात्मा को प्रकट करने की क्षमता होती है। प्रेम शब्द के 300 से अधिक पर्यावाची शब्दों का प्रयोग मानस में किया गया है। मेरा मानना है कि मानस में प्रेम का 300 प्रतिशत समावेश है। [...]

1

श्रीजी की धरा पर रामकथा महाकुंभ आज से

नाथद्वारा। शीतल संत मोरारी बापू ने कहा है कि मेवाड़ के चार धामों में आने से मन प्रसन्नचित हो जाता है और श्रीनाथजी के दरबार में आने से सबसे ज्यादा प्रसन्नता नाथद्वारा आकर होती है। मेरे लिए तो और ज्यादा प्रसन्नता का विषय भी इसलिए है कि मैं यहां पर रामकथा लेकर आया हूं और [...]

0

पथमेड़ा गोशाला की कार्यकारिणी का गठन

सांचौर। निकटवर्ती गोपाल गोवर्धन गोशाला पथमेड़ा में दो दिवसीय राष्ट्रीय राष्ट्रीय अधिवेशन की शाम को संस्थापक एवं प्रधान संरक्षक गोगषि स्वामी दत्तशरणानंद महाराज के पावन सानिध्य में बैठक आयोजित हुई। जिसमें राष्ट्रीय कामधेनु कल्याण परिवार के विभिन्न प्रकल्पों, ट्रस्टों तथा गोशालाओं की नवीन कार्यकारिणी का गठन किया गया। राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रवक्ता पूनम राजपुरोहित मानवताधर्मी [...]

0

आज बच्छ बारस (वत्स द्वादशी ): चाकू का काटा नहीं खायेंगी माताएं

प्राचीन हिंदू परंपरा के अनुसार सुहागिनें और माताएं मंगलवार  को बछ बारस (वत्स द्वादशी) पर्व मनाएंगी। इस पर्व में हषरेल्लास के साथ बछड़े वाली गाय की पूजा करते हुए संतान की सकुशलता की कामना की जाएगी। परंपरा के अनुसार इस दिन महिलाएं चाकू से कटी भोजन सामग्री से परहेज करेंगी। उदयपुर शहर के बाईजी राज [...]

0

धर्मं क्या है : जगद्गुरु रामानंदाचार्य श्री रामनरेशाचार्य जी

हमारे यहां कहा जाता है कि प्रेम का उत्पादन भी धन से ही होता है। श्रेष्ठ कर्म भी धन से होते हैं। गीता में भगवान ने कहा, चार तरह से लोग मेरा भजन करते हैं। कुछ लोग कठिनाई दूर करने के लिए। कुछ लोग समृद्ध के लिए। कुछ लोग ज्ञान की प्राप्ति के लिए और [...]

0
Pages:1234567...18
View Mobile Site