SatsangLive

The Spiritual Touch

Posts Categorized / Pooja

नवरात्र पर विशेष- दुर्गा के नौ रूप

या देवी सर्वभूतेषु श्रद्धा रूपेण संस्थिता।।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।। महाशक्ति की आराधना का पर्व है नवरात्री। तीन हिंदू देवियों- पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ विभिन्न स्वरूपों की उपासना के लिए निर्धारित है, जिन्हें नवदुर्गा के नाम से जाना जाता है। पहले तीन दिन पार्वती के तीन स्वरूपों की अगले तीन दिन लक्ष्मी माता [...]

0

Navratri Pooja, Customs, Aarti & All

मराठा शक्ति पीठ: माँ तुलजा भवानी देवी कवच / चण्डी कवच 51 पीठों में महापीठ : कामाख्या शक्तिपीठ जहाँ दीपक से काजल नहीं,केसर बनती है : आई माता जिस मंदिर में पाकिस्तान के छक्के छूट गए : तनोट माता चूहों वाली माता : करणी माता, देशनोक कलयुग में शक्ति का अवतार माता जीण भवानी The [...]

0

Navratri Pooja Vidhi

Navratri, the Festival of Nine Nights, is celebrated in honour of the Supreme power Shakti. The festival is celebrated for nine nights twice in a year. The first Navratri falls in the month of March-April and are known as Chaitra Navratri. The other are celebrated in the month of October-November and are called Ashwin Navratri. [...]

0

श्राद्ध 29 से शुरू, इस बार 17 दिन के

हर धर्म में बड़ों व पूर्वजों के लिए सम्मान और श्रद्धा के भावों की खुशहाल जीवन के लिए बड़ी अहमियत बताई गई है। हर धर्म की बुनियाद भी श्रद्धा ही है। सनातन धर्म की बात करें तो पूर्वजों यानी पितरों के प्रति श्रद्धा प्रकट करने का ही एक धार्मिक उपाय है – श्राद्ध कर्म। धर्म [...]

0

विघ्नहर्ता गणपति की पूजा ऐसे करें

भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी को ‘गणेश चतुर्थी’ के तौर पर मनाया जाता है। हिंदुओं के आदि देव भगवान गणेश सब देवों में प्रथम पूज्यनीय है और सभी शुभ कार्यों से पहले उनकी पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश हरियाली के भी देवता है। आज हम आपको बताते हैं कि ऐसे [...]

0

गणेश चतुर्थी विशेष: 108 नाम गणपति के

भाद्रपद माह की चतुर्थी को मनाया जाने वाला गणेश चतुर्थी का त्योहार पूरे भारत में जोर-शोर से मनाया जाता है। हर भक्तगण अपने-अपने तरीके से भगवान गणेश के जन्मदिन को मनाता है। महाराष्ट्र में गणेश चतुर्थी से लेकर अनंत चतुर्दशी तक गणेशोत्सव मनाया जाता है। पूरा देश मंगलमूर्ति भगवान गणेश को अपने घर लाने के [...]

0

प्रदोष व्रत : क्या क्या करें और क्या नहीं ?

29 अगस्त, बुधवार को प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat) है। धर्म शास्त्रों के अनुसार प्रत्येक मास की दोनों त्रयोदशी को भगवान शिव के निमित्त व्रत किया जाता है इसे प्रदोष व्रत कहते हैं। सूतजी के अनुसार बुध प्रदोष व्रत करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। बुध प्रदोष व्रत के पालन के लिए शास्त्रोक्त विधान इस [...]

0

आज बच्छ बारस (वत्स द्वादशी ): चाकू का काटा नहीं खायेंगी माताएं

प्राचीन हिंदू परंपरा के अनुसार सुहागिनें और माताएं मंगलवार  को बछ बारस (वत्स द्वादशी) पर्व मनाएंगी। इस पर्व में हषरेल्लास के साथ बछड़े वाली गाय की पूजा करते हुए संतान की सकुशलता की कामना की जाएगी। परंपरा के अनुसार इस दिन महिलाएं चाकू से कटी भोजन सामग्री से परहेज करेंगी। उदयपुर शहर के बाईजी राज [...]

0

श्रीजी को सवा लाख आम का भोग

नाथद्वारा स्थित पुष्टिमार्गीय वल्लभ संप्रदाय की प्रधान पीठ में विराजित प्रभु श्रीनाथजी को मंगलवार को स्वर्ण धर्मनुवाक पुरुषसूक्त के पाठ के साथ ज्य्ष्ठाभिशेक स्नान की सेवा अर्पित की गयी. केसर युक्त सुवासित जल से तिलकायत परिवार ने श्रीजी बावा को स्नान कराया. जिसके दर्शन का लाभ देश-विदेश से आये हजारो श्रृद्धालुओं ने लिया. केसर की [...]

0

निर्जला एकादशी व्रत कथा (Hindi & English)

युधिष्ठिर ने कहा : जनार्दन ! ज्येष्ठ मास के शुक्लपक्ष में जो एकादशी पड़ती हो, कृपया उसका वर्णन कीजिये । भगवान श्रीकृष्ण बोले : राजन् ! इसका वर्णन परम धर्मात्मा सत्यवतीनन्दन व्यासजी करेंगे, क्योंकि ये सम्पूर्ण शास्त्रों के तत्त्वज्ञ और वेद वेदांगों के पारंगत विद्वान हैं । तब वेदव्यासजी कहने लगे : दोनों ही पक्षों [...]

0
Pages:12