SatsangLive

The Spiritual Touch

Posts Categorized / Utsav

नवरात्रि: आज दूसरे दिन ब्रह्मचारिणी की पूजा

नवदुर्गाओं में दूसरी दुर्गा का नाम ब्रहमचारिणी है। इनकी पूजा द्वितीया तिथि को की जाती है। ब्रहमचारिणी इस लोक के समस्त चर और अचर जगत की विद्याओं की ज्ञाता हैं। इनका स्वरूप श्वेत वस्त्र में लिपटी हुई कन्या के रूप में है जिनके एक हाथ में अष्टदल की माला और दूसरे हाथ में कमंडल है। यह [...]

0

नवरात्र पर विशेष- दुर्गा के नौ रूप

या देवी सर्वभूतेषु श्रद्धा रूपेण संस्थिता।।  नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।। महाशक्ति की आराधना का पर्व है नवरात्री। तीन हिंदू देवियों- पार्वती, लक्ष्मी और सरस्वती के नौ विभिन्न स्वरूपों की उपासना के लिए निर्धारित है, जिन्हें नवदुर्गा के नाम से जाना जाता है। पहले तीन दिन पार्वती के तीन स्वरूपों की अगले तीन दिन लक्ष्मी माता [...]

0

Navratri Pooja, Customs, Aarti & All

मराठा शक्ति पीठ: माँ तुलजा भवानी देवी कवच / चण्डी कवच 51 पीठों में महापीठ : कामाख्या शक्तिपीठ जहाँ दीपक से काजल नहीं,केसर बनती है : आई माता जिस मंदिर में पाकिस्तान के छक्के छूट गए : तनोट माता चूहों वाली माता : करणी माता, देशनोक कलयुग में शक्ति का अवतार माता जीण भवानी The [...]

0

Navratri Pooja Vidhi

Navratri, the Festival of Nine Nights, is celebrated in honour of the Supreme power Shakti. The festival is celebrated for nine nights twice in a year. The first Navratri falls in the month of March-April and are known as Chaitra Navratri. The other are celebrated in the month of October-November and are called Ashwin Navratri. [...]

0

चारभुजा: आज निकलेंगे प्रभु नगर विहार को

जलझूलनी एकादशी पर बुधवार को ठाकुरजी रामरेवाड़ी में बिराजकर स्नान करने सरोवर पधारेंगे। जिले में सबसे बड़ा आयोजन गढ़बोर चारभुजाजी में होगा। यहां चल रहे मेले में मंगलवार से ही भीड़ जुट गई। बुधवार को यहां हजारों भक्त चारभुजानाथ की रामरेवाड़ी में शामिल होंगे। जिलेभर में भी बुधवार को जलझूलनी एकादशी मनाई जाएगी। राजसमंद के [...]

0

विघ्नहर्ता गणपति की पूजा ऐसे करें

भाद्रपद शुक्ल पक्ष चतुर्थी को ‘गणेश चतुर्थी’ के तौर पर मनाया जाता है। हिंदुओं के आदि देव भगवान गणेश सब देवों में प्रथम पूज्यनीय है और सभी शुभ कार्यों से पहले उनकी पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश हरियाली के भी देवता है। आज हम आपको बताते हैं कि ऐसे [...]

0

गणेश चतुर्थी: पधारो गजानन गणपति

इस बार गणेश जी को घर लिवाने हेतु पूरा एक महीना ज्यादा इन्तेज़ार करना पड़ा. गणेश चौथ इस बार देर से आई. पर कोई नहीं, हमारे गजानन देर से पधारे है तो ज्यादा दिन घर रहेंगे. मराठवाडा में गणपति की धूम आज शुरू हो जायेगी. लालबाग के राजा सहित घर घर गणपति पधारेंगे. घर घर नित्य सुबह शाम आरती: [...]

0

जलझुलनी एकादशी: चारभुजा मंदिर, गढबोर के रंग

चारभुजा गढ़बोर का मन्दिर अपने आप में बहुत ही प्रसिद्ध मंदिर है और मेवाड के चार धाम में से एक माना जाता है । मेवाड़ के चार धामों में श्रीनाथ जी (नाथद्वारा), एकलिंग (कैलाशपुरी), द्वारकाधीश (कांकरोली) एवं चारभुजा (गढबोर) है. इनमे चारभुजा मंदिर, जो प्रभु बदरीनाथ को समर्पित है, राजसमन्द जिले की  कुम्भलगढ़ तहसील के [...]

1

श्रीजी प्रभु की हवेली में पुष्प वितान का मनोरथ

   पुरुषोत्तम मास के तहत श्रीजी प्रभु की हवेली में मंगलवार को पुष्प वितान का दिव्य मनोरथ हुआ। श्रीजी प्रभु को प्रात: शृंगार झांकी में अनूठा शृंगार धराया गया। सायं भोग-आरती की झांकी में श्रीलालन प्यारे श्रीजी प्रभु के घर पधारे। हवेली में स्थित कमल चौक में सजावट की गई। श्रीलालन प्यारे को शृंगार धराकर [...]

0

उदयपुर, राजसमन्द में सामूहिक पारणे, मिच्छामी दुक्कड़म

विनम्र भाव से बोला मिच्छामी दुक्कड़म  Jain dharma, paryushan, kshamapana 2012 राजसमंद. पर्युषण पर्व के तहत आठ दिनों तक तप आराधना के बाद बुधवार को जैन समाज की ओर से क्षमापना पर्व मनाया गया। इस मौके पर लोगों ने सालभर में जाने अनजाने में हुई हुई गलतियों के लिए मिच्छामी दुक्कड़म बोलकर एक दूसरे से [...]

0
Pages:123