SatsangLive

The Spiritual Touch

मोरारी बापू इन नाथद्वारा : पहला दिन

1

नाथद्वारा।रामकथा के पहले ही दिन मुरारी बापू ने रामचरित मानस के निचोड़ को प्रस्तुत कर दिया। बापू बोले, प्रेम में परमात्मा को प्रकट करने की क्षमता होती है। प्रेम शब्द के 300 से अधिक पर्यावाची शब्दों का प्रयोग मानस में किया गया है। मेरा मानना है कि मानस में प्रेम का 300 प्रतिशत समावेश है। मानस के आदि, मध्य व अंत में प्रेम देवता की स्थापना है। यह प्रेममय मानस है। इसलिए इस कथा का शीर्षक मानस प्रेम रामकथा है। इतना कहते हुए शीतल संत मुरारी बापू ने स्पष्ट कर दिया कि वे मानस वाचन के माध्यम से नौ दिन तक प्रेम रस बरसाएंगे। मिराज गु्रप की ओर से यहां लालबाग स्टेडियम में शुरू हुई रामकथा में बापू ने कहा कि प्रेम कैसे प्रकट हो। प्रकट हो जाए तो उसकी वृद्धि कैसे हो। प्रेम सबको आल्हादित कैसे करता है। प्रेम की यात्रा करने वाले की और क्या चाहत रहती है। प्रेम आदमी की दृष्टि में कितना परिवर्तन ला सकता है। प्रेम के बाद कुछ और पाने की चाह रहती है या नहीं। इन सब बातों पर मानस के माध्यम से नौ दिन तक चर्चा की जाएगी। बापू ने कहा कि कोई आदेश कोई उपदेश नहीं सात्विक वार्ता होगी। किसी-किसी को ऐसे सात्विक आयोजनों से भी ‘बोध’ हो सकता है।

 

श्रीनाथजी प्रभु रसराज है। उनकी इच्छा से यहां नटराज भी आ रहे है। यह हरिहर का मिलन हो रहा है। शिव का मतलब कल्याण होता है। यहां कल्याण का कार्य हो रहा है।  यह विचार शीतल संत मुरारी बापू ने  मिराज ग्रुप की ओर से गणेश टेकरी क्षेत्र में लगाई जाने वाली २५१ फीट की शिव प्रतिमा स्थल के शिलान्यास कार्यक्रम में व्यक्त किए। बापू ने कहा कि आज अधिक मास की प्रथम तिथि है और  पहले ही दिन शिव की प्रतिमा स्थल का शिलान्यास हुआ है। बापू ने कहा कि शिव की तीन आंखे है।

उसी आधार पर यहां बन रहे नए प्रोजेक्ट में तीन दृष्टि का भी समावेश होना चाहिए। जिससे यहां आने वालों को ऊ र्जा, प्रकाश के साथ-साथ शीतलता भी प्राप्त हो सके। उन्होंने कहा कि इस प्रतिमा के साथ-साथ प्रतिभा के भी दर्शन हो ऐसा कुछ करना चाहिए। प्रतिमा तो किसी भी धातु की बन सकती है लेकिन प्रतिभा ज्ञान, विचार से निखरती है।

 

बापू ने कहा कि राजस्थान की धरती के प्रति उनका विशेष लगाव है। यह धरती धोरा, पीरा, मीरा, विरा तथा गिरधारी की है। उन्होंने आयोजक मिराज गु्रप के सीएमडी मदन पालीवाल को अकर्ता से सम्बोधित करते हुए कहा कि यदि उसने इस प्रतिमा के प्रति किए गए किसी भी वादे को तोडा तो मैं उसे कान पकड़ कर पुछुंगा खबरदार !  बापू ने  इस संबंध में चुटकी लेते हुए उपस्थित मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कहा कि वे उनका कान तो नहीं पकड सकते लेकिन जब भी मिलेंगे तब आंखों में आंखें डाल कर पुछेंगे कि प्रतिमा सम्बंधित प्रकल्प का क्या हुआ। इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्जवलन से हुई। मुख्यमंत्री गहलोत ने बापू का शॉल ओढ़ाकर स्वागत सत्कार किया।


न्यू कॉटेज में हुई अगवानी
इससे पूर्व शनिवार सुबह करीब ११.१५ बजे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, केन्द्रीय मंत्री डॉ.सी.पी.जोशी, शांति धारीवाल, जिला प्रभारी मंत्री मांगीलाल गरासिया, राजसमंद सांसद गोपालङ्क्षसह शेखावत, कुम्भलगढ़ विधायक गणेश परमार तथा प्रमुख स्वायत शासन सचिव जी.एस. संधु नाथद्वारा पहुंचे। न्यू कॉटेज में मुख्यमंत्री की प्रशासनिक अधिकारियों ने अगवानी की। स्थानीय कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री व सभी अतिथियों को उपरणा व वृंदावन टोपी पहना कर स्वागत किया। कुछ देर न्यू कॉटेज में रूकने के बाद मुख्यमंत्री व मंत्रियों ने श्रीजी प्रभु की राजभोग झांकी के  (शेष पृष्ठ ८ पर)
दर्शन किए। दर्शनोपरांत मंदिर में उनका परंपरानुसार समाधान किया गया। इस अवसर पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, ओमजी शर्मा, नपा अध्यक्षा गीता शर्मा, उपाध्यक्ष श्यामलाल गुर्जर सहित कई कांग्रेसी उपस्थित थे।
ड्डदेश की सबसे ऊं ची प्रतिमा 
केन्द्रीय मंत्री डॉ.सी.पी.जोशी ने कहा कि पब्लिक, प्राईवेट, पार्टनरशीप के तहत जब इन्फास्ट्रक्चर की जब बात आती थी जब मेरे मन मैं मिराज गु्रप का ख्याल आता था। हमने प्रशासन के साथ मिल कर एक ऐसे प्रकल्प की योजना बनाई जिससे क्षैत्र में पर्यटन का विकास हो। जोशी ने कहा कि विदेशों के कई शहरों में ऐसे-ऐसे स्थान है जिन्हें देखने के लिए लोग वहां जाते है। देश की यह सबसे ऊंची प्रतिमा होगी। इसके बनने से यहां पर्यटन का भी विकास होगा। जोशी ने कहा कि मिराज गु्रप के साथ नगर के बस स्टेण्ड को अत्याधुनिक व सुख सुविधाओं से संपन्न बनाने की योजना पर विचार चल रहा है। शीघ्र उसे भी क्रियान्वित किया जाएगा।

नाथद्वारा फेस्टिवल के पहले दिन मंच पर विराजित बापू, साथ में मुख्यमंत्री गहलोत एवं मिराज के मदन पालीवाल

बढ़ेगा पर्यटन उद्योग
मुख्यमंत्री गहलोत ने प्रकल्प पर लगाए गए नियम व शर्तें में शिथिलता लाने का स्पष्ट वादा करते हुए कहा कि इसके निर्माण में प्रशासन की तरफ से कोई बाधा या शर्तें नहीं थोपी जाएगी। उन्होंने कहा कि श्रीजी की नगरी में शिव प्रतिमा की कल्पना करना तथा उसे साकार करना बड़ा कार्य है। श्रीजी मंदिर की प्रतिष्ठा तो अतुल्निय है। अब नाथद्वारा इस प्रतिमा के कारण भी जाना जाएगा। १२ करोड ७५ लाख रूपये की लागत से प्रतिमा व आस-पास के क्षैत्र को सौन्र्दीयकरण बाग लगा कर विकसित करना तथा उसे  सार्वजनिक हितार्थ सौंप देना ऐसा कोई बिरले पुरू ष ही कर सकते है।  उन्होंने कहा कि देश में धन कमाने वालों की कोई कमी नहीं है लेकिन देश व समाज पर खर्च करने वाले कम है। मिराज सीएमडी इस मामले में अग्रीम पंक्ति पर खडे है। वे अपनी सोच के साथ इस पार्क को विकसित करना चाहते है। जो कल्पना करता है वहीं उसे साकार भी करता है।
बापू से मिलने पहुंचे तत किम् 
राजभोग के दर्शनोंपरांत मुख्यमंत्री व अन्य मंत्री मुरारी बापू के दर्शन व आशीर्वाद  प्राप्त करने मिराज सीएमडी मदन पालीवाल के निवास स्थान तत किम् में पहुंचे। यहां पालीवाल ने मुख्यमंत्री व अन्य मंत्रियों से बापू की मुलाकात करवाई। स्वायत षासन मंत्री शांति धारीवाल भी बापू की कथा करवाने को लेकर पंक्ति में खडे है। शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान बापू ने कहा कि यह अच्छा है कि एक मंत्री मेरी कथा मांग रहे है। मैं इसे प्राथमिकता दूंगा।
‘नदी की तरह बहना चाहता हूंÓं
मिराज सीएमडी मदन पालीवाल ने कहा कि इस प्रकल्प को लेकर जो शर्ते प्रशासन ने लगाई है। उससे वे बंधन सा महसूस कर रहे है। वे नदी की तरह बहना चाहते है, वे चाहते है कि यह प्रकल्प इतना विशाल व भव्य हो कि देश भर के लोग श्रीजी के दर्शन के साथ-साथ महादेव के दर्शन करने के लिए भी विशेष तौर पर आए। उन्होंने कहा कि २५१ फीट की प्रतिमा तथा उसके आस-पास के क्षैत्र में सौन्र्दीयकरण व बाग लगाने के उनके जो विचार है उसमें नगर पालिका की शर्ते बाधा बन रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री गहलोत से नियम, शर्तों में छूट देने का आग्रह किया। कार्यक्रम को स्वायत शासन मंत्री शांति धारीवाल तथा जिला प्रभारी मंत्री मांगीलाल गरासिया ने भी सम्बोधित किया। (प्रातःकाल,भास्कर एवं प्रेसनोट पर आधारित  )

————–

मोरारी बापू से सम्बंधित आलेख -

Morari Bapu in Nathdwara: दूसरा दिन

बधाई संदेश: मुरारी बापू

रामकथा के अन्तर्पाठ पर चिंतन

Morari Bapu in Shri Nathdwara

श्रीनाथद्वारा रामकथा की तैयारियां प्रारंभ

Jerusalem Ram Katha By Morari Bapu

Hindu teacher brings J’lem mantra of compassion: Jerusalem Post

अंदाज़-ए- मोरारी बापू (फोटो एलबम)

जोहान्सबर्ग में बापू की राम कथा

जून में बापू चले फ्लोरिडा USA

Tampa, Florida Ram Katha (All Details)

 

One Comment

So, what do you think ?