SatsangLive

The Spiritual Touch

Mahashraman ji

जैन धर्म की सबसे प्रमुख धारा “तेरापंथ” के आप आचार्य है. आचार्य भिक्षु द्वारा स्थापित एवं आचार्य तुलसी और शांतिदूत आचार्य महाप्रज्ञ जी द्वारा पोषित तेरापंथ के ये नवीन आचार्य “आचार्य श्री महाश्रमण” जैन धर्म को नयी दिशा दे रहे है. आचार्य महाप्रज्ञ के निर्वाण के पश्चात सरदारशहर , राजस्थान में वर्ष २०११ में आप आचार्य पद पर सुशोभित हुए. इस  वर्ष आपने दक्षिण राजस्थान के केलवा में चातुर्मास संपन्न किया. Acharya_Mahashraman
आचार्य श्री महाश्रमण से सम्बंधित अन्य सभी जानकारियों एवं उनके शुभ विचारों से लाभान्वित होने के लिए इन में से चुनें -

संवाद भगवान् से : आचार्य श्री महाश्रमण

नवकार मंत्र से मिटते हैं सारे कष्ट

उदयपुर, राजसमन्द में सामूहिक पारणे, मिच्छामी दुक्कड़म