SatsangLive

The Spiritual Touch

श्रीजी को सवा लाख आम का भोग

0

नाथद्वारा स्थित पुष्टिमार्गीय वल्लभ संप्रदाय की प्रधान पीठ में विराजित प्रभु श्रीनाथजी को मंगलवार को स्वर्ण धर्मनुवाक पुरुषसूक्त के पाठ के साथ ज्य्ष्ठाभिशेक स्नान की सेवा अर्पित की गयी. केसर युक्त सुवासित जल से तिलकायत परिवार ने श्रीजी बावा को स्नान कराया. जिसके दर्शन का लाभ देश-विदेश से आये हजारो श्रृद्धालुओं ने लिया.

श्रीजी को सवा लाख आम का भोग

केसर की महक से मंदिर की दोल-तिबारी और आस-पास का क्षेत्र भी महक उठा. शंखनाद के साथ कीर्तनकारों ने राग अल्हेया बिलावल के साथ कीर्तन गान किया ज्येष्ठाभिशेक के साथ श्रीजी बावा को सवा लाख आम का भोग भी लगाया.

मंगलवार तडके पौने पांच बजे मंगला दर्शन खुले. तिलकायत राकेश जी महाराज ने श्रीजी बावा की आरती उतारी.,जिसके उपरांत स्नान की सेवा पूर्ण कर श्रृंगार धराया.
तिलकायत ने स्वर्ण घट में भरे केसरयुक्त सुवासित जल को स्वर्ण जडित शंख मर भरकर सर्वप्रथम श्रीजी के चरणों में अर्पित किया. तिलकायत ने केसर,पुष्प,तुलसी आदि से मिश्रित जल को श्री अंग पर उडेलने के बाद जब श्रीजी के  वस्त्र पर उडेला, तो धवल रंग का वस्त्र केसरिया हो गया. तिलकायत पुत्र विशाल बावा ने प्रभु को सेवा धराई. जबकि मुखिया इन्द्रवादन गिरनार, प्रदीप सांचिहर के साथ सहयोगियों ने सेवा पूर्ण कराई. शंखनाद के साथ लगभग २० मिनट सेवा चली. इस दौरान ११ पंडितों ने स्वर्ण धर्मनुवाक पुरुष सूक्त के पाठ किये.
श्रृंगार, ग्वाल, राजभोग तथा सांयकाल भोग व आरती के दर्शनों में भी किर्तान्गान पर श्रृद्धालु झूमें. प्रभु के निधि स्वरुप नवनीतप्रिया जी लाडले लालन को भी तिलकायत राकेश बावा एवं अन्य ने सुवासित जल से स्नान कराया. स्नान के दर्शन के लिए देश विदेश से श्रृद्धालु नाथद्वारा आये हुए थे.
उल्लेखनीय है कि वर्ष में एक बार प्रभु को सवा लाख आम का भोग धराया जाता है.

 

Shrinathji, shri nath ji, shri nathdwara, rajasthan, mewar, how to reach nathdwara, tilkayat rakesh bava, vishal bawa, navneet priyaaji, lal bagh, shriji snan
(रिपोर्ट: मंदिर मंडल,नाथद्वारा द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति )

So, what do you think ?